Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

आक्रोश: सागी पंचायत के मुखिया की मनमानी से नहीं बना कचरा संग्रहण केंद्र 

आक्रोश
  • इसे पहचान लीजिए
  • बीडीओ से शिकायत के तीन माह बाद भी नहीं हुआ डब्ल्यूपीयू का निर्माण कार्य पूरा

  • पारिश्रमिक राशि का भुगतान नहीं होने से परेशान हैं स्वच्छताकर्मी 

लिया जायजा
समाचार विचार/खोदावंदपुर/बेगूसराय: सागी पंचायत के मुखिया मोहम्मद इरशाद आलम की मनमानी और कार्यशैली से पंचायत में अब तक कचरा संग्रहण केंद्र का निर्माण नहीं हुआ है, जिससे पंचायत क्षेत्र के लोगों में आक्रोश देखा जा रहा है। एक तरफ तो स्वच्छता अभियान को खुलेआम ठेंगा दिखाया जा रहा है तो दूसरी तरफ कचरा प्रबंधन नहीं होने से लोगों को काफी परेशानी हो रही है। ग्रामीणों ने बताया कि सरकार द्वारा वर्ष 2023 में ही डब्ल्यूप यू बनवाने का निर्देश दिया गया था, परन्तु मुखिया की लापरवाही और विभागीय अधिकारियों की उदासीनता से एक साल बाद भी कचरा संग्रहण केन्द्र नहीं बन सका है। ग्रामीणों का कहना है कि इस पंचायत के कई वार्डों में ई-रिक्शा ठेला भी खराब पड़ा हुआ है, जिसके चलते कचरा नहीं उठाया जाता है। ग्रामीणों ने बताया कि स्वच्छता कर्मियों के द्वारा कुछ वार्डों में से कचरा एकत्रित किया जा रहा है और कचरा संग्रहण केंद्र की जगह नकटा पोखर नारायणपुर के समीप इसे गिरा दिया जाता है तथा रात्रि में उसी कचरा को जला भी दिया जाता है। विदित हो कि वायु प्रदुषण के मामले में बेगूसराय का देश में शीर्ष स्थान है फिर भी ऐसी लापरवाही की ओर स्थानीय प्रशासन उदासीन है।
पारिश्रमिक राशि का भुगतान नहीं होने से परेशान हैं स्वच्छताकर्मी
पंचायत के स्वच्छता कर्मियों ने बताया कि गत पांच माह से इस योजना की पारिश्रमिक राशि का भुगतान भी नहीं किया गया है, जिसके चलते गरीब स्वच्छता कर्मियों के समक्ष भूखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है। मुखिया और सम्बंधित निर्माण एजेंसी की मनमानी का आलम यह है कि निर्माण स्थल पर अब तक योजना के प्राक्कलन का बोर्ड भी नहीं लगाया गया है। इतना ही नहीं कचरा संग्रहण केंद्र परिसर में घना जंगल भी हो गया है, जिससे अंदर जाने पर भी भय बना हुआ रहता है। ग्रामीणों का कहना है कि अब तक ना तो कचरा संग्रहण केंद्र का निर्माण कार्य पूरा हुआ है और ना ही रंग रोगन ही किया गया है तथा ना ही कचरा प्रबंधन का फर्श बना है और ना ही नावेद। इसके अलावे गीला, सुखा व प्लास्टिक की कचरा रखने का नादी भी नहीं बनाया गया है। हद तो तब हो गया जब एक साल बाद भी कचरा प्रबंधन का निर्माण कार्य पूरा नहीं किया गया, जिसे देखने वाला भी कोई अधिकारी व जनप्रतिनिधि नहीं हैं। ग्रामीणों ने बताया कि जब अधिकारियों से शिकायत करते हैं तो इसकी लीपा पोती कर दी जाती है।
बीडीओ से शिकायत के तीन माह बाद भी नहीं हुआ डब्ल्यूपीयू का निर्माण कार्य पूरा
बताते चलें कि खोदावन्दपुर प्रखंड क्षेत्र के लगभग सभी पंचायतों में डब्ल्यूपीयू बन गया है, लेकिन सागी पंचायत में कचरा संग्रहण केंद्र पिछले एक वर्ष से अधर में लटका हुआ है।  मोहम्मद इरशाद आलम, मुखिया, ग्राम पंचायत राज सागी ने बताया कि सागी पंचायत के नारायणपुर गांव स्थित नकटा पोखर के समीप कचरा संग्रहण केन्द्र बनकर तैयार है, सिर्फ ऊपर में चदरा लगाने, रंग रोंगन व नावेद बनाने का कार्य बाकी है, जल्द ही उसे भी पूरा कर दिया जायेगा। बीडीओ नवनीत नमन ने बताया कि सागी पंचायत में डब्ल्यूपीयू बनवाने के लिए मुखिया को पिछले जनवरी महीने में ही कचरा संग्रहण केन्द्र बनवाने के लिये लिखित निर्देश दिया गया था, परन्तु तीन माह बीत जाने के बाद भी कचरा घर नहीं बनाया गया है, जो मुखिया की लापरवाही को दर्शाता है। उन्कहोंने कहा कि कचरा प्रबंधन निर्माण घर का स्थल जांच कर वरीय अधिकारियों को जांच रिपोर्ट समर्पित कर दिया जाएगा।

 

Begusarai Locals

आक्रोश

Leave a Comment

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव टीवी

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

Quick Link

© 2023 Reserved | Designed by Best News Portal Development Company - Traffic Tail