Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

प्रेरित हुए बच्चे: स्वरोजगार जॉब सीकर नहीं बल्कि खोलता है जॉब क्रिएटर का द्वार

  • जांच की मांग

🌀बाइट कंप्यूटर्स ट्रेनिंग सेंटर में फंडामेंटल क्लास के उपरांत हुआ चेतना सत्र का आयोजन

🌀बिजनेस टायकून अभिषेक कुमार सिंह ने बच्चों को बताए सफलता के मूलमंत्र

प्रेरित हुए बच्चे
समाचार विचार/बेगूसराय: लोहिया नगर स्थित बाइट कंप्यूटर्स ट्रेनिंग सेंटर में फंडामेंटल क्लास के उपरांत चेतना सत्र कार्यक्रम में न केवल प्रेरित हुए बच्चे बल्कि उन्हें सफलता के मूलमंत्रों से लाभान्वित भी किया गया। गौरतलब हो कि बेगूसराय जिले के लोहिया नगर में स्थित बाइट कंप्यूटर्स ट्रेनिंग सेंटर कंप्यूटर और तकनीकी शिक्षा प्रदान करने वाली एक प्रतिष्ठित संस्थान है, जिसके निदेशक संजय कुमार सिंह के कुशल मार्गदर्शन में आर्थिक रूप से कमजोर छात्र छात्राओं को स्वरोजगार के असीमित अवसर उपलब्ध होते रहते हैं। इस संस्थान से प्रशिक्षित छात्र छात्राएं आज देश के विभिन्न भागों की नामचीन कंपनियों में कार्यरत हैं। इस संस्थान में समय समय पर चेतना सत्र के दौरान विभिन्न विधाओं के सफल लोगों की मौजूदगी में अध्ययनरत छात्र छात्राओं को मोटिवेट किया जाता रहा है।

बिजनेस टायकून अभिषेक कुमार सिंह ने बच्चों को बताए सफलता के मूलमंत्र
चेतना सत्र कार्यक्रम के दौरान शनिवार को जिले के एजीएल टाइल्स एजेंसी के प्रोपराइटर और प्रसिद्ध बिजनेस टायकून अभिषेक कुमार सिंह ने छात्रों को संबोधित किया। संस्थान के निदेशक संजय कुमार सिंह ने संस्थान की ओर से उन्हें कलम देकर सम्मानित किया। अपने संबोधन में अभिषेक कुमार सिंह ने कहा कि संसाधनों की कमी होने के वावजूद बच्चे जीवन में सफल हो सकते हैं। बस उन्हें थ्री डी यानी कि डिवोशन, डेडीकेशन और डिसिप्लिन को अपने जीवन का अंग बनाना होगा। उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि पहले मैं सरकारी नौकरी में था, परंतु मुझे लगा कि जीवन में अगर आगे बढ़ना है तो स्वरोजगार के जरिए ही हम बहुत आगे बढ़ सकते हैं।स्वरोजगार करके आप जॉब सीकर नहीं बल्कि जॉब क्रिएटर बन सकते हैं।

प्रेरित हुए बच्चे

स्किल के अनुसार ही खुलते हैं स्वरोजगार के द्वार
संस्थान के निदेशक संजय कुमार सिंह ने चेतना सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि अगर आप देश के एक हजार रिच व्यक्तियों की लिस्ट सर्च करेंगे, तो उसमें कोई भी नौकरीपेशा व्यक्ति नहीं है, सभी बिजनेसमैन ही हैं। अतः अगर नौकरी नहीं मिलती है तो घबराने या शर्माने जैसी कोई बात नहीं है। आप अपने स्किल्ड के अनुसार ही स्वरोजगार में लग जाएंगे तो आपका जीवन सुगम हो जाएगा।इस अवसर संस्थान के प्रशिक्षक प्रथम परमार, खुशी कुमारी, सक्षम कुमार, प्रेम कुमार सहित सौ से अधिक छात्र एवं छात्रा मौजूद थे।

Begusarai Locals

🎯वक्ताओं ने कहा: कम्युनिस्ट और साक्षरता आंदोलन के प्रखर नेता थे प्रदीप राय

🎯खाना बनाने के बाद झुलसी महिला की मौत

 

Leave a Comment

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव टीवी

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

Quick Link

© 2023 Reserved | Designed by Best News Portal Development Company - Traffic Tail