Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

बोले डीएम रोशन कुशवाहा: चैती दुर्गा और रामनवमी पर सतर्क और संवेदनशील है जिला प्रशासन

  • कौन मारेगा बाजी
  • कारगिल विजय सभा भवन में हुआ जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक का आयोजन

  • आदर्श आचार संहिता के मद्देनजर आप भी लें इन निर्देशों की जानकारी

बोले डीएम रोशन कुशवाहा
समाचार विचार/रविशंकर गण/नगर संवाददाता/बेगूसरायजिला पदाधिकारी रोशन कुशवाहा की अध्यक्षता में कारगिल विजय सभा भवन में चैती दुर्गा, चैती छठ एवं रामनवमी के मद्देनजर जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक आहूत की गई। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक, अपर समाहर्त्ता, नगर आयुक्त, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रभारी पदाधिकारी आपदा शाखा, जिला जन-सम्पर्क पदाधिकारी, जिला स्तरीय अन्य पदाधिकारीगण, सामाजिक कार्यकर्ताओं सहित अन्य जिलास्तरीय शांति समिति के विभिन्न गणमान्य सदस्य मौजूद थे। इस अवसर पर जिला पदाधिकारी ने सर्वप्रथम पूरे बेगूसराय जिले में होली एवं ईद जैसे महत्वपूर्ण पर्व शांतिपूर्ण तरह से मनाने हेतु सभी लोगों का हार्दिक स्वागत किया। उन्होंने कहा कि चैती दुर्गा, चैती छठ एवं रामनवमी जैसे महत्वपूर्ण धार्मिक एवं पवित्र मौके पर जिला प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है तथा जिले भर में किसी भी प्रकार की छोटी-बड़ी घटनाक्रमों पर पूरी संवेदनशीलता के साथ नजर बनाए हुए है।

🎯समर्थकों ने कसी कमर: नामांकन के दिन उमड़ने वाली भीड़ देगी जनादेश की आहट

बोले डीएम रोशन कुशवाहा

नकारात्मक तत्वों से सख्ती से निपटेगी जिला प्रशासन
उन्होंने कहा कि बेगूसराय जिला ऐतिहासिक रूप से आपसी सौहार्द, सद्भावना एवं समरसता से युक्त समाज रहा है। इसके बावजूद किसी भी संभावित असामाजिक तत्वों के नकारात्मक मंसूबे से सख्ती से निपटने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह तत्पर है। उन्होंने शांति समिति के सदस्यों के साथ-साथ जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि ऐसी कोई भी छोटी-बड़ी घटनाओं, जिसका दूरगामी प्रभाव हो सकता है, के संबंध में ससमय सूचना दें ताकि आवश्यक प्रशासनिक हस्तक्षेप सुनिश्चित हो सके। जिला पदाधिकारी ने बैठक के क्रम में शांति समिति के विभिन्न सदस्यों द्वारा दिए गए फीडबैक को महत्वपूर्ण बताया तथा कहा कि इन पर्वो विशेष तौर पर रामनवमी के अवसर पर संवेदनशील स्थलों के संबंध में तथा जिले भर में विभिन्न जुलुस एवं अखाड़ा जैसे कार्यक्रमों के संभावित आयोजनों के मद्देनजर प्राप्त जानकारी से जिला प्रशासन को शांतिपूर्ण एवं स‌द्भावपूर्ण माहौल में इन पर्वों के संपादन में सहयोग प्राप्त होगा।

अपने क्षेत्र में लगातार भ्रमणशील रहेंगे एसडीओ और एसडीपीओ
इस क्रम में जिला पदाधिकारी ने आगामी चैती दुर्गा, चैती छठ और रामनवमी आदि पर्वों के मद्देनजर आवश्यक तैयारियां की जा रही है तथा इसी क्रम में संवेदनशील स्थलों पर दंडाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों, सशस्त्र बल एवं लाठी बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है। उन्होंने बताया कि चैती छठ पर्व के मद्देनजर श्रद्धालुओं, व्रतियों तथा उनके परिजनों की छठ घाटों पर संभावित भीड़ को देखते हुए विधि-व्यवस्था संधारण, भीड़ नियंत्रण तथा शांतिपूर्वक पर्व संपन्न कराने हेतु नगर आयुक्त, नगर निगम, बेगूसराय, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, प्रभारी पदाधिकारी एवं जिला आपदा प्रबंधन शाखा, बेगूसराय को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। इसी प्रकार, रामनवमी और चैती दुर्गा पर्वों के अवसर पर विशेष सतर्कता रखने हेतु सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को अपने-अपने क्षेत्रों में लगातार भ्रमणशील रहते हुए विधि-व्यवस्था संधारण एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।

जुलूस में पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा धारदार हथियार
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मनीष ने जिलेवासियों को इन त्योहारों के मौके पर हार्दिक शुभकामनाएं दी तथा अपील करते हुए कहा कि इस पवित्र अवसर पर जिले की सामाजिक संस्कृति को बनाए रखने में अपना सकारात्मक योगदान दें। उन्होंने कहा कि इस मौके पर जिले में शांतिपूर्ण माहौल सुनिश्चित किए जाने हेतु पुलिस प्रशासन पूरी तरह प्रतिबद्ध है तथा इस क्रम में अराजक तत्वों को चिन्हित कर उसके विरूद्ध निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व की भांति इस मौके पर भी डीजे के संबंध में आवश्यक कार्रवाई हेतु सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया है। उन्होंने बैठक में मौजूद सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र अंतर्गत निकाले जाने वाले जुलुसों के मार्गों का सत्यापन करने, ऐसे मार्गों पर फ्लैग मार्च करने आदि का भी निर्देश दिया गया। इसी क्रम में उन्होंने शांति समिति के सदस्यों से भी अनुरोध किया कि वे अपनी तरफ से भी प्रयास करें कि रामनवमी के अवसर पर निकाले जाने वाले जुलुस में अराजक तत्व शामिल न हों। बैठक के अंत में जिला पदाधिकारी द्वारा शांति समिति के सदस्यों को आदर्श आचार संहिता को देखते हुए अपने अंदर संचालित समितियों के सदस्यों को कोई भी धारदार हथियार लेकर जुलूस/अखाड़ा में न जाया जाय। हथियार सहित पकड़े जाने पर विधि-सम्मत कार्रवाई की जायेगी।

🎯हनुमान मंदिर के लिए मुस्लिम परिवारों ने दान की जमीन, आर्थ‍िक सहायता कर मरम्‍मत में भी बंटाया हाथ

 

Leave a Comment

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव टीवी

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

Quick Link

© 2023 Reserved | Designed by Best News Portal Development Company - Traffic Tail