Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

बेगूसराय में टल गया बड़ा रेल हादसा: अगर मालगाड़ी खुल जाती तो लग जाता लाशों का अंबार

  • इसे पहचान लीजिए
  • यात्रियों ने की इंक्वायरी कर्मियों को तत्काल प्रभाव से मुअत्तल करने की मांग

  • 11 मई को ही जनहित एक्सप्रेस से कट कर हो गई थी छात्रा ज्योति की मौत

बेगूसराय में टल गया बड़ा रेल हादसा
समाचार विचार/नगर प्रतिनिधि/बेगूसराय: बुधवार को बेगूसराय में टल गया बड़ा रेल हादसा अन्यथा लाशों का अंबार लग जाता। एक बार फिर बेगूसराय रेलवे स्टेशन पर तैनात इंक्वायरी कर्मियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। कर्मियों की लापरवाही के प्रकाश में आने के बाद जहां रेल यात्रियों में आक्रोश देखा जा रहा है, वहीं रेलवे के संबंधित अधिकारी इस पर मुंह खोलने को तैयार नहीं हैं। हालांकि, मामले के व्यापक रूप से प्रसारित होने के बाद रेलवे के कर्मियों ने बताया कि इंक्वायरी कर्मियों पर कार्रवाई की गाज गिरनी तय है।

इंक्वायरी कर्मी ने अचानक कर दी जनहित एक्सप्रेस के एक नंबर प्लेटफार्म पर आगमन की घोषणा
अमूमन पाटलिपुत्र से पूर्णिया कोर्ट तक जाने वाली ट्रेन नंबर-13206 जनहित एक्सप्रेस रोज दोपहर प्लेटफार्म संख्या दो पर ही आकर रुकती है। नौगछिया, महेशखुंट खगड़िया, साहेबपुरकमाल और बलिया क्षेत्र के सैंकड़ों छात्र छात्राएं सुबह में किसी भी ट्रेन से कोचिंग या अन्य पाठ्यक्रमों की नियमित पढ़ाई के लिए रोज बेगूसराय आते हैं और उनलोगों के घर वापसी के लिए सबसे मुफीद ट्रेन जनहित एक्सप्रेस ही है। बुधवार को प्लेटफार्म संख्या दो पर तयशूदा आगमन से निश्चिंत होकर सैंकड़ों यात्री ट्रेन का इंतजार कर रहे थे। अचानक इंक्वायरी कर्मी ने उक्त ट्रेन के प्लेटफार्म संख्या एक पर आने की घोषणा कर दी, जिससे स्टेशन परिसर में भगदड़ मच गई।

बेगूसराय में टल गया बड़ा रेल हादसा

अगर मालगाड़ी खुल जाती तो लग जाता लाशों का अंबार
प्लेटफार्म बदलने की सूचना पर जल्दबाजी में  ट्रेन पकड़ने के लिए थ्रू लाइन पर मालगाड़ी खड़ी रहने के बाद भी सैकड़ों यात्री मालगाड़ी के नीचे से होकर प्लेटफार्म नंबर-1 पर भागने लगे। हालांकि, मालगाड़ी के नहीं खुलने के कारण कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ। प्रत्यक्षदर्शी यात्रियों ने बताया कि अगर उस समय मालगाड़ी खुल जाती, तो लाशों का अंबार लग जाता क्योंकि मालगाड़ी के प्रत्येक डब्बों के नीचे से यात्री भागते निकलते देखे गए। इस संबंध में रेलवे के कोई अधिकारी कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं हैं। विदित हो कि 11 मई को ही इसी जनहित एक्सप्रेस से कट कर एक कॉलेज की छात्रा ज्योति कुमारी की मौत हो गई थी।

🎯58 साल की उम्र में शिक्षक बनकर किया अचंभित

Begusarai Locals

🎯हेल्दी टिप्स: बिना रसायन के आप भी घर में पका सकते हैं आम

🎯सलाह: हर आयुवर्ग के लोगों को धूल और धुएं से बचने की है जरूरत

Leave a Comment

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव टीवी

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

Quick Link

© 2023 Reserved | Designed by Best News Portal Development Company - Traffic Tail