Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

चमचों बेलचों के चक्कर में: गिरिराज सिंह को हो गया वोट का भारी नुकसान

  • इसे पहचान लीजिए
  • महागठबंधन प्रत्याशी अवधेश राय को रिझाती दिख रही कामुक लेडी का वीडियो हुआ वायरल

  • आयोजक ने जब दी सफाई तो चुनावी मौसम में बीजेपी की खूब हो रही है जगहंसाई

चमचों बेलचों के चक्कर में
समाचार विचार/बेगूसराय: चमचों बेलचों के चक्कर में लोकतंत्र कैसे शोकतंत्र का रूप अख्तियार करती है, उसे बेगूसराय लोकसभा चुनाव के संदर्भ में देखना प्रासंगिक होगा। हम इस बात पर बहुत संतोष का अनुभव करते हैं कि लोकतंत्र में हर व्यक्ति को अपना प्रतिनिधि चुनने की स्वतंत्रता दी गई है। किंतु अगर व्यक्ति की विवेक-बुद्धि का स्तर शोचनीय है तो वह एक अच्छा प्रतिनिधि कैसे चुन सकेगा? लोकतंत्र जनता का, जनता के लिए, जनता के द्वारा शासन है। पर जनता की मति मारी गई हो तो लोकतंत्र शोकतंत्र नहीं बन जाएगा क्या? बीजेपी के फायर ब्रांड और तथाकथित हिंदू हृदय सम्राट नेता सह एनडीए प्रत्याशी गिरिराज सिंह की चाकरी करने वाले कुछ अराजक और उद्दंड अतिप्रिय लोगों के विवेक बुद्धि के शोचनीय कृत्य ने उन्हें बेगूसराय संसदीय क्षेत्र में भारी नुकसान पहुंचा दिया है। उनके चमचे बेल्चों की एक नामुराद हरकत ने एक विधानसभा क्षेत्र के लाखों मतदाताओं का मोहभंग कर दिया है। मोदी मैजिक के रथ पर सवार गिरिराज सिंह को घृणा की नजर से देखने वाले किंतु मोदी में अटूट विश्वास रखने वाले विश्वसनीय वोटर्स की नाराजगी यह बताने के लिए काफी है कि गिरिराज सिंह की डूबती नौका में छेद करने वाले उनके अत्यंत करीबी और विश्वसनीय हैं, जिन्होंने आज तक लकड़ी की परवाह किए बगैर दीमक की ही भूमिका निभाई है।

महागठबंधन प्रत्याशी अवधेश राय को रिझाती दिख रही कामुक लेडी का वीडियो हुआ वायरल 
दरअसल कल एनडीए प्रत्याशी गिरिराज सिंह के अत्यंत विश्वसनीय सलाहकार समझे जाने वाले एक स्वयंभू तथाकथित नेता जी ने अपने फेसबुक वॉल पर एक वीडियो शेयर कर सनसनी फैला दी थी। उस वीडियो में महागठबंधन प्रत्याशी अवधेश राय एक वैवाहिक समारोह में शामिल होते हुए दिख रहे हैं। उनके बगल में एक वयोवृद्ध व्यक्ति भी शालीन रूप से कुर्सी पर बैठे देखे जा रहे हैं। इसी बीच ऑर्केस्ट्रा प्रोग्राम में नृत्य कर रही एक महिला का आगमन होता है और वह अवधेश राय को जाने समझे बगैर उनके सिर पर कामुक अदाओं के साथ हाथ फेरती नजर आ रही है। बस, इसी क्लिप को गिरिराज सिंह के कुछ तथाकथित (अ)शुभचिंतकों ने वायरल कर अवधेश राय को चरित्रहीन, अय्याश और न जाने किन किन अमर्यादित विभूषणों से विभूषित कर दिया। यह क्लिप सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर जमकर वायरल हुआ और यूजर्स ने बिना कुछ सोचे समझे अवधेश राय की जमकर फजीहत कर डाली। लेकिन किसी ने भी वस्तुस्थिति को जानने समझने का किंचित मात्र प्रयास भी नहीं किया। दरअसल सफेदपोशों के कुछ व्यक्ति विशेष और जमात के द्वारा आम लोगों के मानसिक और बौद्धिक विकास को अवरुद्ध करने की बहुत ही शातिराना परंपरा रही है लेकिन इस बार ऐसे अराजक और व्हाइट कॉलर धारी व्यक्ति और प्रायोजित करने वाले गैंग ने नाहक़ ही विद्रोह-भावना जन्म दे दिया। बात कुछ न थी, पर निषेध भर से आज बतंगड़ बन गई। जिले की राजनीति पर लेजर निगाह रखने वालों को यह पता ही होगा कि राज्यसभा सांसद राकेश सिन्हा की चुप्पी और धरातल पर गिरिराज सिंह का हो रहा विरोध बहुत कुछ कह रहा है। मोदी मैजिक के रथ पर सवार गिरिराज सिंह अगर चुनावी फतह कर भी लेते हैं लेकिन जन विश्वास और जन स्वीकार्यता से वे कोसों दूर रहेंगे, इसमें कोई संशय नहीं।

आयोजक ने जब दी सफाई तो चुनावी मौसम में बीजेपी की खूब हो रही है जगहंसाई

साहेब के सागवानी इमारत में दीमक की भांति घुन लगाने वालों ने वीडियो क्लिप को वायरल कर साहेब की नजरों में तीसमार खां बनने का अथक प्रयास तो जरूर किया लेकिन अब उनकी भद्द पीट रही है। जिस स्थान विशेष से यह वीडियो वायरल हो रहा है, वहां के आयोजक ने मीडिया के सामने आकर दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया है। पैनेशिया हॉस्पिटल के निदेशक और उस पारिवारिक वैवाहिक कार्यक्रम के आयोजक डॉ. वीरेंद्र कुमार का बयान ऐसे उपद्रवी और अराजक लोगों के गाल पर जड़े तमाचा से कम नहीं है। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा है कि मैं भी नरेंद्र मोदी का फैन हूं लेकिन गिरिराज सिंह के चमचे बेलचों की हरकत ने क्षेत्र की बड़ी आबादी को निराश कर दिया है। उन्होंने कहा कि मेरे परिवार में आयोजित एक वैवाहिक कार्यक्रम में जिले के हर दल और वर्ग के लोगों ने शिरकत किया था। उसी क्रम में महागठबंधन प्रत्याशी अवधेश राय भी मेरे आमंत्रण पर कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे थे जहां ऑर्केस्ट्रा की एक महिला ने उन्हें स्पर्श किया था, जिसके बाद वे नाराज होकर वहां से रुखसत कर गए थे। हमलोगों ने उन्हें चाय पीने के लिए भी आग्रह किया लेकिन उन्होंने वहां रुकना मुनासिब नहीं समझा और चलते बने। डॉ. वीरेंद्र ने कहा कि कुछ अवसरवादी और निहायत ही घटिया किस्म के इंसान की एक साजिश की वजह से ने केवल मेरे शुभचिंतक बल्कि क्षेत्र के लाखों लोग आहत हुए हैं। अवधेश राय के बेदाग चरित्र को किसी सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है। मुझे तकलीफ इस बात की हुई कि कुछ गिद्ध टाइप के लोगों ने इतने अमर्यादित ढंग से इस मुद्दे को राजनीतिक रंग देकर अपना उल्लू साधने में पूरा जोर लगा दिया लेकिन उनका यह दांव उल्टा पड़ गया है। आप खुद इस वीडियो में डॉ. वीरेंद्र को सुन लीजिए।

चमचों बेलचों के चक्कर में

Begusarai Locals

🎯अगर संपत्ति पैमाना हो तो: गिरिराज सिंह के सामने अवधेश राय की शून्य है औकात

🎯महागठबंधन प्रत्याशी अवधेश राय ने पीएम मोदी को दी सीधी चुनौती

 

Leave a Comment

Share this post:

खबरें और भी हैं...

लाइव टीवी

लाइव क्रिकट स्कोर

कोरोना अपडेट

Weather Data Source: Wetter Indien 7 tage

Quick Link

© 2023 Reserved | Designed by Best News Portal Development Company - Traffic Tail